इतिहास के इस हिस्से से बार-बार आते हैं सवाल, डाउनलोड करें नोट्स

सिविल सर्विसेज परीक्षा हो या फिर कोई भी एग्जाम. हर परीक्षा में इतिहास के स्वतंत्रता संग्राम वाले भाग से सवाल आना तय होते हैं. सलेक्टेड लोगों का मानना है कि अगर आप इस हिस्से को एक बार कायदे से तैयार कर लें तो आपके सेलेक्सन के चांसेज बढ़ जाते हैं.


आपकी सहुलियत के लिए हम वक्त-वक्त पर इस हिस्से से जुड़े नोट्स उपलब्ध कराते रहते हैं.

इन 15 सवालों को जरुर तैयार कर लें, कई बार आ चुके हैं

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए www.bookmynotes.com की अनुभवी टीम ने परीक्षा में आने वाले सवालों की सीरिज शुरु की है. हमारी कोशिश है हम जो नोट्स आपको दें उसमें से कई सवाल एक्जाम में फंस भी जाएं.

बार-बार परीक्षा में आते हैं ये सवाल, बार-बार आप उसे गलत करते हैं?

दोस्तो जनगणना से जुड़े सवाल हर परीक्षा में आने करीब-करीब तय होते हैं. सबसे रोचक बात ये है कि इस बात को जानते हुए भी ज्यादातर छात्र इन सवालों को परीक्षा में अक्सर कंफ्यूजन में गलत कर आते हैं. परीक्षा देने के बाद उन्हें होश आता है कि अरे इसका अंसर तो फलना था. इसका अंसर तो ये था. दरअसर होता ये है कि आप जिस चीज को सबसे ज्यादा आसान समझते हैं वो परीक्षा में सबसे कठिन हो जाती हैं. इसके पीछे लॉजिक ये है कि आप उसे तैयार करने के बजाय इसलिए छोड़ देते हैं कि परीक्षा से एक दिन पर पहले इन तथ्यों को देख लेगें. लेकिन होता क्या है ये आपको खुद पता है.

पौधों को लगनेवाले रोगों से जुड़े 21 सवाल, कई बार परीक्षा में आ चुके हैं, तैयार कर लें

दोस्तों परीक्षा की तैयारी के दौरान जब आप कई एग्जाम दे चुके होते हैं तो पेपर के पैटर्न को अच्छी तरह से समझ जाते हैं. सफल लोगों का मानना है कि अगर आप पुराने पेपर्स का अध्ययन करें तो पाएंगे कुछ ऐसे सेक्सन हैं जहां से हर परीक्षा में सवाल जरुर आते हैं और खासतौर से कुछ ऐसे प्रश्न हैं जो बार-बार पूछे जाते हैं. आपकी मदद के लिए हम यहां पर पौधों को लगने वाली कुछ बीमारियों के नाम दे रहे हैं. यकीन मानिए इन 21 सवालों में से आपकी परीक्षा हाल में एक दो सवालों से मुलाकात जरुर होगी.

जनसंख्या से जुड़े ये 25 सवाल बार-बार परीक्षा में आते हैं, जरुर देख लें.

दोस्तों UPPCS, RO/ARO, LOWER, SSC  की तैयारी कर रहे परीक्षार्थियों के लिए हम लगातार उपयोगी नोट्स प्रकाशित कर रहे हैं. जनसंख्या से जुड़े कुछ सवाल हैं जो बार-बार परीक्षा में पूछे जाते हैं. सफल छात्र इन तथ्यों को अच्छी तरह से पहले ही तैयार कर लेते हैं. आपको भी सफल होना है तो इन तथ्यों को तैयार कर लेना चाहिए.  इन तथ्यों को बार-बार दोहराना चाहिए जो परीक्षा में आ सकते हैं. इसी बात को ध्यान में रखकर www.bookmynotes.com की टीम उन तथ्यों को प्रकाशित कर रही हैं जो परीक्षा के लिए बेहद अहम हैं. हमारी अनुभवी टीम को विश्वास है कि अगर आप इन तथ्यों को तैयार कर लेते हैं तो परीक्षा में आपकी सलेक्शन दर दूसरों से 80 से 90 फीसदी तक बढ़ जाएगी.

इन 39 सवालों में 1 सवाल हर परीक्षा में आते हैं, जरुर तैयार कर लें

दोस्तों, हर परीक्षा में विश्व के अहम संगठन से जुड़े सवाल आते हैं. इसलिए हम आपको एक साथ इनका कलेक्शन करके दे रहे हैं. ऐसे समझिए कि अगर आपने इन 39 सवालों को तैयार कर लिया तो आप किसी भी एक्जाम में बैठे आपको इनमें से एक से दो सवाल जरुर मिलेंगे. सफल लोग भी यही कहते हैं कि अगर आपने वो सवाल गलत कर दिया जिसे सब सही करते हैं तो आपकी कामयाबी 90 फीसदी तक कम हो जाती है. तो फटाफट नीचे के तथ्यों को याद कर लीजिए. आप देखेंगे कि इन्हें तैयार करने के बाद आपका कांफिडेंस काफी बढ़ जाएगा.

एक TRICK से सही होंगे कई सवाल, जरुर देखें

हर परीक्षा में राज्यों के नृत्यों से जुडे सवाल आते हैं. इन सवालों में कुछ सवाल ऐसे हैं जो अक्सर कंफ्यूजन की वजह से गलत हो जाते हैं. लेकिन अगर आप नीचे लिखें इन ट्रिक को दिमाग में फिट कर लें तो आगे से आपके ये सवाल गलत नहीं होंगे.

गजब की TRICK? भूगोल के ये सवाल मिनटों में करें हल

दोस्तों भारत और उसके पड़ोंसी देशों को  लेकर हर एक्जाम में सवाल जरुर आते  हैं. पुराने पेपर्स को देखेंगे तो आप पाएंगे कि ज्यादातर सवाल इस तरह से होते हैं कि भारत की सीमा किन-किन पड़ोसी देशों से लगती है. भारत की सबसे लंबी सीमा किस देश से लगती  है? भारत की के कुल कितने राज्यों की सीमा पड़ोसी देशों से लगती है? वगैरह-वगैरह. परीक्षा में अक्सर ये सवाल आते हुए भी गलत हो जाता है क्योंकि सीमाओं की लंबाई और उसका क्रम याद रखना बेहद कठिन काम हैं. लेकिन अब आपकी ये परेशानी हमेशा के लिए छूमंतर हो जाएगी क्योंकि बस एक फॉर्मूला याद रखकर आप इस तरह से जुड़े दर्जनों को सवालों को मिनटों में हल कर सकते हैं. आपकी सहुलियत के लिए हमने यहां पर चार्ट के जरिए एक फॉर्मूला पेश किया है. इसे दो-तीन बार अच्छे से याद कर लीजिए. अगर आपने इस फॉर्मूले को समझ लिया  तो परीक्षा में आपके सवाल कभी गलत नहीं होगे.

RO/ARO परीक्षा के लिए IMP हैं विज्ञान से जुड़े ये सवाल, जरुर देख लें

Q. किसको 'आत्महत्या की थैली' कहा जाता है?
A-लाइसोसोम
Q.अत्याधिक शराब पीने से शरीर का कौन-सा अंग प्रभावित होता है?
A-लीवर (यकृत)
Q. शरीर में रक्त बैंक का काम कौम-सा अंग करता है?
A-तिल्ली (Spleen)
Q. भारत में प्रथम बार हृदय का सफल प्रत्यारोपण (हार्ट ट्रांसप्लांट) का किसने किया?
A-डॉ. पी. वेणुगोपाल

MAINS में लिखने की कला कैसे विकसित करें? कुछ प्रैक्टिकल उपाय

किसी भी विषय पर लिखने के लिए सबसे जरुरी है हाथ और दिमाग के बीच सामंजस्य. अगर दिमाग में उठने वाले विचार बहुत तेजी से आ रहे हैं और हाथ उसे शब्द नहीं दे पा रहे हैं तो निश्चिततौर पर आप अच्छा नहीं लिख पाएंगे. और इसके उल्टा अगर हाथ तेजी से लिख रहा है और विचार उतनी तेजी से नहीं आ रहे हैं तो भी आप अच्छा नहीं लिख पाएंगे. तो सवाल उठता है कि हाथ और मस्तिष्क में तालमेल बैठाने के लिए क्या करें?

परीक्षा में आते हुए सवाल नहीं होगे गलत, अपनाइये ये प्रैक्टिकल उपाय

दोस्तों जैसा की हमने पहले ही आपको बताया है कि पढ़ाई एक कला है, एक साधना है. प्रैक्टिस से आप इसमें पारंगत हो सकते हैं.  दुनिया का कोई ऐसा डॉक्टर नहीं जो आपको नीली-पीली, हरी-गुलाबी रंग की टैबलेट और सीरप देकर ये दावा करें कि चार खुराक दवा खाकर पढ़ाई में उस्ताद हो जाएंगे, लिहाजा आप किसी भी क्लास में हो या फिर किसी कंपटिशन की तैयारी कर रहे हों आप सिर्फ और सिर्फ प्रैक्टिस के जरिए इसमें महारथ हासिल कर सकते हैं.

पढ़ाई में अगर नहीं लगता मन तो अपनाएं ये प्रैक्टिकल उपाय, सेलेक्शन तय है !

दोस्तों परीक्षा का दौर शुरु होने जा रहा है. त्योहारों का सीजन है लिहाजा पढ़ाई में मन कम ही लग रहा होगा. लेकिन सफल वही होता है जो विषम परिस्थिति में पढ़ता है. इसी लिए कहा गया है कि पढ़ाई एक कला है. किसी भी कला में पारंगत होने के लिए सतत अभ्यास की जरुरत होती है. लिहाजा आप भी अगर पढ़ाई में पारंगत होना चाहते हैं तो आपको अभ्यास की जरुरत है. लेकिन सवाल ये है कि अभ्यास कि दिशा क्या हो? क्योंकि अगर आप गलत अभ्यास कर रहे हैं तो आपको लेने के देने भी पड़ सकते हैं. अगर आपने कभी जिम किया होगा तो ये बात अच्छी तरह से समझ सकते हैं कि गलत एक्सरसाइज का क्या नुकसान हैं?

PCS अफसर के नोट्स डाउनलोड करने के लिये यहां CLICK करें.




अगर आपको पढ़ाई की सही कला सीखनी है तो जिम की तरह अच्छे ट्रेनर की जरुरत होगी. अनुभवी लोगों से मिलना होगा. या फिर खुद अनुभव लेकर ये कला सीखनी होगी. लेकिन अगर आप खुद अनुभव लेकर इस कला को सीखना चाहेंगे तो आपको लंबा इंतजार करना पडेगा. लिहाजा, बुद्धिमान वो है जो अपने सीनियर्स, टीचर, बड़े-बुजुर्ग के अनुभवों से सीखे, उसकी सफलता से सीखे, असफलता से सीखे, गलतियों से सीखे और उसे जिंदगी में उतारकर सफल हो जाए.

दिल्ली के  मुखर्जीनगर की ध्येय कोचिंग का नोट्स यहां से डाउनलोड करें... CLICK

कोचिंगों में क्या होता है? बस सीनियर्स आपसे अपना अनुभव साझा करते हैं. हमने ये गलती की, वो गलती कि अगर हम ऐसा ना करते तो सफल होते है. ऐसा करते तो सफल होते. हमने ये किताबें फालतू में पढ़ी, इस किताब को नहीं पढ़ के गलती की. मेरा मानना है कोचिंग पढ़ें चाहे, सेल्फ स्टडी करें. हकीकत ये है कि सबकुछ करना आपको ही है. आपने देखा होगा कि कोचिंग में पढ़ने वाले कुछ ही बच्चे अपने कोच या टीचर के अनुभव से सीख पाते हैं. जो सीखता है और वो ही सफल होता है.

अगर आप महंगी कोचिंग नहीं कर सकते हैं. या फिर आपके पास ऐसे सीनियर्स नहीं हैंं जो आपको सही मार्गदर्शन दे सकें तो आप परेशान ना हों. हम आपको यहां पर वो सभी गाइडेंस देंगे जो सफल होने के लिए जरुरी है. बस आपको करना ये है कि आप उस पर विश्वास कर के फॉलो करें. नीचे कुछ बिन्दू दे रहा हूं. इन बिन्दूओं में से अगर कोई आपसे मैच कर रहा है तभी आगे का लेख पढ़ें वर्ना कुछ और पढ़ें. अपना वक्त बर्बाद ना करें.

गजब की TRICK ! संविधान के ये सवाल सेकेंड में करें हल

दोस्तों भारतीय संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान हैं. संविधान से जुड़े सवाल हर परीक्षा में आते हैं. अगर आप ध्यान दें तो आपने एक बात पर गौर किया होगा संविधान से जुड़ा एक सवाल अक्सर परीक्षा में आता है कि संसदीय विधि निर्माण, नीति निदेशक तत्व, आपातकाल, समवर्ती सूची जैसे प्रवधान किस देश से लिए गए हैं. इन सवालों से जुड़े तथ्यों को याद करने की हम शानदार ट्रिक पेश कर रहे हैं. नीचे लिखे ट्रिक को पढ़िए और दिमाग में बैठा लीजिए.

यूपी RO/ARO परीक्षा में विज्ञान विषय से क्यों आ सकते हैं 16 सवाल? पढ़िए एक विश्लेषण

दोस्तों, उम्मीद है कि आपने यूपी समीक्षा अधिकारी का फॉर्म भर दिया होगा. अगर नहीं भरा है तो अंतिम समय का इंतजार ना करके कृपया ये शुभ शुरुआत जल्द से जल्द करें. क्योंकि देखा गया है कि आयोग की वेबसाइट कभी भी धोखा दे सकती है. और आप फॉर्म ही नहीं भर पाएंगे तो फिर तैयारी कर के क्या करें? तो देर मत कीजिए और फटाफट फॉर्म भर दीजिए.

दिल्ली के मुखर्जीनगर की 'ध्येय कोचिंग' का नोट्स यहां से डाउनलोड करें

दोस्तों, उम्मीद होगी आपकी तैयारी अच्छी चल रही होगी. आपकी मदद के लिए www.bookmynotes.com की टीम आपको तैयारी के लिए मार्ग दर्शन और नोट्स उपलब्ध कराने की लगातार कोशिश कर रही है. अभी हमने कई सफल लोगों के नोट्स आपको उपलब्ध कराए हैं. हमारा मकसद साफ है कि ज्ञान को बेचने वाले लोगों से उन लोगों को मुक्ति दिलाना जो वाकई में प़ढ़ना चाहते है.

PCS में सेलेक्ट शिव कुमार सर का नोट्स देखें, फिर बनाएं अपने नोट्स, फायदा मिलेगा

दोस्तों सफल होने के लिए एक बात गांठ बांध लें, नोट्स हमेशा अपने खुद के बनाएं. लेकिन ऐसा भी नहीं है कि दूसरे के नोट्स देखें भी नहीं. दरअसल, सफल लोगों का मानना है कि खुद के नोट्स बनाने से पहले आपको दूसरे के नोट्स एक बार जरुर देख लेने चाहिए. इससे फायदा ये होता है कि आपके नोट्स उससे बेहतर बनते हैं. लेकिन दिक्कत ये है कि नोट्स आप देखें किसके. सलाह तो यही दी जाती है कि सफल लोगों के नोट्स देखकर उससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि नोट्स बनाने में किस बात का ध्यान रखना चाहिए. मगर ज्यादातर छात्रों के सामने दिक्कत ये है कि उन्हें सफल लोगों को नोट्स मिले कैसे? क्योंकि 5 लाख में 500 ही सेलेक्ट होते हैं. और इनसे मिलना बेहद मुश्किल है.

क्यों PCS की कुछ पोस्ट से भी अच्छी है समीक्षा अधिकारी (RO) की नौकरी?

दोस्तों काफी इंतजार के बाद उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने RO/ARO की वेकेंसी का ऐलान कर लिया  है. ऐलान इसलिए क्योंकि हम सभी छात्रों के लिए ये परीक्षा किसी जंग से कम नहीं. और जब युद्ध का ऐलान हो गया है तो योद्धाओं को भी जंग के मैदान में उतरने के लिए तैयारी शुरु कर देनी चाहिए. वैसे तो आप इसके लिए काफी पहले से तैयारी कर रहे होंगे. लेकिन युद्ध जीतता वही है जो जंग के मैदान में कूदने से पहले अपनी रणनीति की समीक्षा करें.

RO/ARO EXAM 2016 की रणनीति बता रहे हैं आलोक हम्यूनिस्ट जी, जरुर पढ़ें


दोस्तों, UPPSC ने RO/ARO EXAM 2016 की वेकेंसी का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. कमीशन ने 2017 के लिए जो कलेंडर जारी किया है उसके मुताबिक RO/ARO की मेंस परीक्षा 25 व 26 जून 2017 को है.  यानी कि प्रारंभिक परीक्षा के लिए आपके पास ज्यादा वक्त नहीं है. ये आपके लिए एक बेहतीन मौका है क्योंकि 361 पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी हुआ है. अगर आप RO/ARO परीक्षा 2016 की तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए जरुरी है कि आप UPPSC TARGET ग्रुप के एडमिन आलोक ह्यूमनिस्ट जी का ये आलेख जरूर पढ़े. आलोक जी PCS लोअर परीक्षा में सलेक्टेड हैं.
अगर आप इस रणनीति के तहत तैयारी करते हैं तो हमें यकीन ही नहीं पूरा विश्वास है कि आप बिना किसी कोचिंग के इस परीक्षा में सफल हो सकते हैं. आपकी सहूलियत के लिए हम नीचे आलोक जी का बेशकीमती हू-ब-हू दे रहे हैं जैसा कि उन्होंने ग्रुप पर कुछ दिन पहले पोस्ट किया था. याद रखिए ये रणनीति आपको किसी कोचिंग सेंटर में नहीं मिलेगी, क्योंकि इस रणनीति को वही बता सकता है जिसने इसे खुद आजमाया हो. तो ना सिर्फ आप इस लेख को पढ़िये बल्कि ज्यादा से ज्यादा शेयर करते अपने साथियों को भी बताइए क्योंकि छोटे शहरों और गांव-देहात के ऐसे लाखों स्टूडेंट हैं जो टैलेंटेड तो हैं लेकिन सही रणनीति नहीं पता होने की वजह से असफल हो रहे हैं. वक्त ज्यादा नहीं है इसलिए आज ही इस लेख को पढ़ें और इसी के मुताबिक तैयारी शुरु कर दें. कोचिंग के चक्रव्यूह से बचने का ये रामबाण मंत्रहैं. और हां इस लेख को पढ़ने के बाद आलोक जी को साधुवाद जरूर दें.

इंतजार खत्म, आ गई RO/ARO-2016 की वेकेंसी, ऐसे बनाएं रणनीति

दोस्तों, इंतजार खत्म काफी इंतजार के बाद आखिरकार यूपी लोक सेवा आयोग ने समीक्षा अधिकारी और सहायक समीक्षा अधिकारी 2016 की वेकेंसी घोषित कर दी है. समान्य चयन हेतु पदों की संख्या 356 हैं जबकि बैकलॉग के लिए 5 हैं. आवेदन 27 सितंबर से शुरु होगा. www.bookmynotes.com अनुभवी टीम आपको इस परीक्षा में पूरी मदद करेगी...