निबंध में ज्यादा नंबर पाना चाहते हैं तो IPS धर्मेंद्र सर का ये लेख जरुर पढ़ें

How to Write Essay in Hindi?
दोस्तों Civil Services Exam की तैयारी कर रहे परीक्षार्थियों के लिए निबंध (Essay) एक अबूझ पहेली है. चाहे जितना पढ़ लो. चाहे जितना लिख लो, चाहे जितना समझ लो, लेकिन ये सवाल मन में बना ही रहता है कि एक आदर्श निबंध क्या होता है (Whats a Ideal Essay)? सब कहते हैं मौलिक लिखो. धारदार लिखो. कलमतोड़ लिखो, एकदम अलग लिखो, ऐसा लिखो, वैसा-लिखो. कोटेशन दो. प्रस्तावना ऐसे लिखो? निष्कर्ष में फलानी बात जरुर लिखो? लेकिन हकीकत ये है कि आजतक कोई भी एक आदर्श निबंध की संकल्पना को पेश नहीं कर पाया है. और ना ही पेश कर पाएगा क्योंकि निबंध कोई गणित नहीं है, जिसको हल करने का एक निश्चित फॉर्मूला हो.


जहां तक निबंध की मौलिकता की बात है तो उसके लिए आपको चिंतनशील होना जरुरी है. मसलन, आपको किसी चीज को देखने का नजरिया ऐसा रखना होगा जिससे आपके मन में खुद के विचार उठे. इसके लिए आपको नजरिया बदलना पड़ेगा. आप चीजों को दुनिया के चश्मे के बजाय खुद के चश्मे से देखें. निबंध की प्रस्तावना से लेकर निष्कर्ष तक की रूपरेखा खुद तैयार करें. 

निबंध में क्या लिखना है इससे पहले ये सोचे कि क्या ना लिखें? क्योंकि अगर आप बुरी चीजें पहले ही दिमाग से निकाल देंगे तो अच्छी चीजें की बचेंगी. एक अच्छे निबंध लेखन की बारीकी बताने के लिए हम नीचें 2006 Batch IPS धर्मेंद्र सिंह यादव का एक लेख नीचे पेश कर रहे हैं. इस लेख को धर्मेंद्र सर ने 20 जनवरी 2017 को दैनिक जागरण अखबार के संपादकीय पेज के लिए लिखा है. 


इस लेख को आप संपादकीय की बजाय इस नजरिए से पढ़िए IPS में सलेक्ट एक परीक्षार्थी कैसा लिखता होगा. क्योंकि लिखने की ये शैली धर्मेंद्र सर की तब भी वैसी ही रही होगी जब वो IPS में सलेक्ट हुए होंगे. ऐसा नहीं है कि 10 साल की नौकरी के बाद उनका लेखन पूरी तरह से बदल गया. हां कुछ व्यक्तिगत अनुभव जरुर जुड़ गए, जिससे लेखन में निखार आ गया.

निबंध की बारीकी बताने के लिए हम IPS धर्मेंद्र यादव सर के लेख में से उऩ बातों को अलग रंग में पेश कर रहे हैं जिसे परीक्षक एक्जाम देखता है. जिसे लेकर आप परेशान रहते हैं कि मौलिक कैसे लिखें. आज आपको समझ में आएगा कि एक मौलिक निबंध कहते किसे हैं? चूंकि इस लेख को समाचार पत्र के लिए लिखा गया है इसलिए इसमें कुछ नीजि विचार सर ने अपने अनुभव के डाले हैं, आप चाहें तो उसे छोड़ सकते हैं. इस लेख को तीन चार बार पढ़ने के बाद आपको समझ में आ जाएगा कि सलेक्ट होने वाले असफल छात्रों से क्या अलग होते हैं, क्यों उन्हें ज्यादा नंबर मिलते हैं. आगे अब आप धर्मेंद्र सर का लेख पढ़िए और अपना मूल्यांकन खुद कीजिए.
=============================

सड़कसमाज और अराजकता

(20 जनवरी 2017 को दैनिक जागरण में प्रकाशित)

विचलित हो उठना हमारा क्षणिक सामूहिक-सामाजिक बोध है। ((मौलिक विचार),(उदाहरण) हरियाणा-पंजाब से फसलों के अवशेष जलाने से निकला धुआं दिल्ली में धुंध बनकर छाया। सुर्खियां बनीं। आम और खास लोग विचलित हुएलेकिन जैसे ही धुंध छटीबेचैनी और चिंता का भाव भी विलीन हो गया। यही सब आए दिन होने वाली घटनाओं और दुर्घटनाओं के मामले में होता है। (करेंट) अभी हाल में पटना में एक नौका डूबी। 20 से ज्यादा लोग असमय काल के गाल के समा गए। तय है कि लोग जल्द ही इस हादसे को भूल जाएंगेठीक वैसे ही जैसे कुछ वक्त पहले छठ के दौरान हुए हादसे को भूल गए। वह हादसा याद होता तो शायद यह वाला होता ही नहीं। हमारे देश में हर मोड़ और मौके पर दुर्घटनाएं होती ही रहती हैं। जहां कोई अंदेशा-आशंका नहीं होती वहां भी भयावह हादसे हो जाते हैं। (पूर्व की घटनाओं से संबंध) साल भर पुराने पुल भरभराकर ढह जाते हैं। चलती ट्रेन पटरी छोड़ देती है तो कई बार खड़ी ट्रेन में दूसरी ट्रेन टक्कर मार देती है। कुछ इलाकों में हर साल मानसून आते ही गांव के गांव सैलाब में बह जाते हैं। जब ऐसा कुछ होता हैहम विचलित हो उठते हैं और जल्द ही आगे बढ़ जाते हैंकिसी और हादसे पर विचलित होने के लिए। (मौलिक विचार) यह क्षणिक विचलता हमारी सामूहिक पहचान बन गई है। गत दिवस (करेंट का उदाहरण) उत्तर प्रदेश के एटा जिले में एक भीषण सड़क दुर्घटना में एक दर्जन से अधिक बच्चों की अकाल-मृत्य हो गई। इतने बच्चों की असमय मौत ने पूरे समाज को विचलित किया। (विचार के रूप के में मौलिक सवाल) एक समाज के तौर पर इतना मृत्युधर्मी समाज क्या कहीं और भी होगा !

(निबंध में विस्तार) अराजकताअव्यवस्थाउन्माद और मरणशीलता के घटकों से हमने ऐसा समाज रच डाला है जहां चारों ओर अस्तित्व का संघर्ष है। जीते रहने की लड़ाई है। इस लड़ाई में जो दुर्बल हैसाधन-विहीन है उसका जीवन-गुणांक छोटा है। उसकी लड़ाई भी कठिन है। वे चाहे नाव में डूबने वाले लोग हों या सैलाब में बह जाने वाले लोग या फिर फुटपाथ पर कुचल जाने वाले लोग! क्या यह सोचनीय नहीं कि इतना मरणशील समाज क्या किसी दैवीय प्रकोप का प्रतिफल है अथवा यह हमारे ही सोशल डिसऑर्डर का परिणाम हैएक विद्यालय जिसे शीत लहर के कारण प्रशासन के आदेश के तहत बंद रहना था वह खुला क्यों थास्कूली बच्चों को ले जा रही बस क्या जरूरी निर्धारित मानकों का पालन करती थीक्या बस का चालक परिवहन विभाग के मानकों का पालन करके ही नियुक्त हुआ था (नीजि विचार) अपने छोटे पेशेवर अनुभव से बिना कोई जांच हुए ही दावे से कह सकता हूं कि एक नहींअनगिनत उल्लंघनों के साथ यह बस बच्चों को लेकर सड़कों पर दौड़ती होगी। क्या तब हममें से किसी ने इस बस को देखादुर्घटना स्थल का दृश्य हृदय विदारक था। बस के पास बच्चों के बिखरे हुए स्कूली बैग दरअसल स्कूली बैग नहींहमारी सामाजिक व्यवस्था के चिंदी-चिंदी हुए कतरे हैं। (मौलिक विचार) यह किसी एक इकाई या व्यक्ति की लापरवाही का सवाल नहीं है। यह एक समाज के तौर पर हमारे बदतर होते जाने का सुबूत है। सप्ताह दर सप्ताह तरह-तरह की दुर्घटनाएं,अकाल मृत्य-ग्रस्त होते लोगउनकी चीखें-चीत्कार। क्या ये सभी दृश्य मिलकर अराजकताअव्यवस्था और उन्माद का एक कोलाज नहीं गढ़तेक्या हमें वाकई इस सबसे फर्क पड़ता हैक्या एक दर्जन से ज्यादा बच्चों की मौत हमें व्यवस्था पसंद समाज बना पाएगीक्या इस दिशा में सोचने के लिए रत्ती भर प्रेरित भी करेगी(विचार) अराजकता और सडकों का हमारे समाज में एक अटूट रिश्ता बन गया है। (विचार के संबंध में तथ्य) बड़े लोगों का एक बड़ा हिस्सा भिन्न-भिन्न प्रकार के वीआईपी में रुपांतरित हो गया है। इस हैसियत से उन्हें पुलिस पायलट या पुलिस एस्कॉर्ट लगी हुई सुरक्षित सड़कें प्रदान कर दी जाती हैं। आम आदमी के लिए तो सड़कें एक बेरहम जगह में तब्दील हो गई हैं-ऐसी जगह जो चलने की दैनिक जरूरत के अलावा भैंस-बकरी बांधने से लेकर तरह-तरह के त्यौहार मनाने के उपयोग में लाई जाती है। (मौलिक विचार) अपने देश में सड़़कें शक्ति प्रदर्शन की सर्व-स्वीकृत स्थल बन गईं हैं। त्यौहार होंधार्मिक शोभा यात्रएं हों अथवा जन प्रतिनिधियों के विजयी जुलुस(मौलिक विचार) सडकें उन्माद को स्पेस दे सकने की बेलौस संभावनाओं से भरी हुई जगहें हैं। हर तरह का वर्चस्व चाहे वह राजनीतिक होसामाजिक होधार्मिक हो अथवा किसी और तरह काअपना प्रकटीकरण सड़कों पर ही करता है। कभी-कभी ऐसा लगता है कि हमारे देश में अतिक्रमण सड़कों का पर्याय बन गया है। सड़कों पर आप केवल उस दशा में सुरक्षित नहीं हैं जब आप उस पर सफर कर रहे हों। शेष हर स्थिति में आप सड़क पर सुरक्षित हैं। हिंदी के एक समकालीन कवि केदार नाथ सिंह की एक कविता में सड़कइस मन: स्थिति में आती है- (अपने तर्कों के पक्ष में उद्धरणविद्धानों के विचारकविता,)
मुझे आदमी का सड़क पार करना
हमेशा अच्छा लगता है
क्योंकि इस तरह एक उम्मीद-सी होती है
कि दुनिया जो इस तरफ है
शायद उससे कुछ बेहतर हो
सड़क के उस तरफ

सड़क के दोनों ओर बेहतर दुनिया की तलाश में सड़क पार करना लाजमी है। सड़क पार करना ही नहींउस पर सफर करना भी आम आदमी का सबसे बड़ा जोखिम है। अपने देश में कुछ ज्यादा हीक्योंकि हम एक ऐसे देश हैं जहां (आकड़े) हर साल करीब डेढ़ लाख लोग सड़क दुर्घटनाओं में मारे जाते हैं। यह तब है जब हम अभी विकासशील देश हैं और दुनिया के कई देशों के मुकाबले हमारे यहां वाहन भी कम हैं। सडक को सड़क बने रहने देना हमारे समाज की सबसे बड़ी जिमेदारी है। (चिंता) क्षणिक विचलित होकर चीजें भुला देने की हमारी आदत अब एक रोग बन गई है। शोक व्यक्त करने से आगे बढ़कर यह सुनिश्चित करना हम सबकी जिम्मेदारी है कि ऐसे दर्दनाक हादसे फिर न हों। (मौलिक सोच) सुरक्षित सड़कें भी उतनी ही आवश्यक हैं जितनी सुरक्षित सरहदें। किसी भी समाज के चरित्र का सबसे बेहतर आकलन सड़कों पर ही होता है। हर चीज को डंडे से लागू कराने की पशु-वृत्ति से परे हमें आत्म-संयम और स्वानुशासन की जरूरत है जिसका हमारी शख्सियत में घनघोर अभाव है। ऐसी घटनाओं को पुन: न होने देना ही दिवंगत मासूमों को हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। कल्पना करें कि कैसा मातम पसरा होगा बच्चों के घर। बच्चों की किताबों के पन्ने फड़फड़ा रहे होंगे। उनमें से परियां निकलकर बच्चों को बहलाकर परी-लोक ले गईं। शायद परी लोक में सड़कें बेहतर होंगी। वहां की सड़कों पर बच्चे महफूज रहेंगे। वहां की सड़कें ही नहींवहां का समाज भी बेहतर होगा- हमसे कम अराजक,कम अव्यवस्थित और कम मृत्युधर्मी। अलविदा बच्चों।

(लेखक धर्मेंद्र सिंह यादव 2006 बैच के IPS अधिकारी हैं और गौतम बुद्ध नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हैं)
साभार:- दैनिक जागरण
NOTE:- दोस्तों अगर आपको हमारा ये प्रयास पसंद आया तो शेयर जरुर कीजिए, इससे हमारा हौसला बढ़ता है और इसी तरह की नई-नई चीजें हम आपके सामने लाने के लिए प्रेरित होते हैं.



IAS Topper Tina Dabi के Notes में ऐसा क्या है जो दूसरों में नहीं? 1000 पन्नों का ये Notes जरुर देखें

दोस्तों IAS परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए जनवरी का महीना सबसे कीमती होता है. अमूमन इसी महीने में UPSC देश की सबसे कठिन परीक्षा IAS का Notification जारी करता है. सालभर की मेहनत की असली परीक्षा अब शुरु होती है. इस परीक्षा में कोई सफल होता है तो कोई असफल. सफल होनेवाला जो भी कुछ भी कहता है वो मिसाल बन जाती है. आनेवाली पीढ़ियां उसे फॉलो करने लगती हैं. जबकि असफल लोगों के पास सिर्फ और सिर्फ असफलता की कहानियां रह जाती हैं, जिसे सुनने के लिए भी कोई तैयार नहीं होता.

IAS Topper Tina Dabi ने Essay में ऐसा क्या लिखा कि वो टॉप कर गईं? देखें उनकी कॉपी

दोस्तों अगर आप सीरियस होकर तैयारी कर रहे हैं तो अभी तक दो बातों को अच्छी तरह से समझ गए होंगे. परीक्षा मैदान में दो तरह के छात्र हैं. एक वो, जो किसी भी तरह से नौकरी पाना चाहते हैं. इसके लिए वो साम, दाम, दंड, भेद की नीति भी अपनाने से गुरेज नहीं करते. पढ़ने से ज्यादा जुगाड़ तंत्र पर भरोसा करके हैं. और दूसरे वो होते हैं जो ना सिर्फ नौकरी पाना चाहते हैं बल्कि कुछ ऐसा भी करना चाहते हैं जो एक मिसाल बन जाए. दंगल फिल्म का वो डायलाग तो आपको याद होगा कि 'मिसाले दी जाती हैं बोली नहीं जाती'.



2015 की IAS परीक्षा में टॉप करनेवाली टीना डाबी (Tina Dabi) ने वो मुकाम हासिल किया है जो अब मिसाल बन चुका है. टीना ने पहले ही प्रयास में ना सिर्फ IAS परीक्षा को पास किया बल्कि दलित समुदाय से ऐसा करनेवाली वो पहली महिला भी बन गई. हालाकि इसे लेकर कुछ लोगों ने विरोध भी किया कि उनका प्रारंभिक परीक्षा में नंबर कम था फिर भी वो आरक्षण की वजह से पास हुईं. दोस्तों विवाद में पड़ने से ज्यादा जरुरी ये है कि टीना डाबी ने मेंस में ऐसा क्या लिखा जिससे वो उन परीक्षार्थियों से भी आगे निकल गई जो प्रारंभिक परीक्षा में उनसे ज्यादा अंकों से पास हुए थे.



निश्चिततौर पर टीना ने मुख्य परीक्षा में ऐसा कुछ लिखा कि उन्हें अच्छे नंबर मिले और वो नंबर वन की पोजिशन पर सलेक्ट हुईं. जहां तक उनके निबंध के पेपर की बात है तो उन्हें 250 में 145 नंबर मिले, जो कि करीब 58 % बैठता है. और IAS की परीक्षा 58 फीसदी नंबर पाना आसान नहीं है.

आप भी सोच रहे होंगे कि टीना ने निबंध के पेपर में ऐसा क्या लिखा कि उन्हें अच्छे अंक मिले. आपकी इस जिज्ञासा को दूर करने के लिए हम नीचे टीना डाबी के निबंध की कॉपी अटैच कर रहे हैं. ये निबंध टीना ने Vision IAS की टेस्ट सीरिज देने के दौरान लिखा था. यानी की ठीक वैसे ही माहौल में जैसा उन्होंने IAS परीक्षा के दौरान लिखा. कॉपी देख कर आप समझ जाएंगे कि टीना में और दूसरों में क्या फर्क है. सकारात्मक सोच के साथ इस कॉपी को पढ़ें और अच्छी चीजों को इस कॉपी से सीखें.


तो पहले आप निबंध की कॉपी डाउनलोड कर लें फिर बारीकी से उसका तसल्ली से अध्ययन करें. और देखें कि कैसे IAS Topper Tina Dabi ने निबंध लिखने से पहले उसकी फ्रेमिंग की और फिर कितने सधे हुए शब्दों निबंध लिखा.


टीना की निबंध की कॉपी डाउनलोड करने के लिए यहां पर CLICK करें.
To Download IAS Topper Tina Dabi Essay Copy Click 


NOTE:-
दोस्तों अगर आपको लगता है कि टीना की ये कॉपी वाकई बेजोड़ है तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें क्योंकि बहुत ऐसे परीक्षार्थी हैं जिन्हें नहीं पता की वो तैयारी कैसे करें? बहुत से ऐसे छात्र हैं जो महंगी कोचिंग नहीं कर सकते हैं. उनके लिए ये कॉपी काफी मददगार हो सकती है. बस आपको नीचे फेसबुक शेयर का बटन दबाकर इसे शेयर ही तो करना है.

अगर आप जानना चाहते हैं कि टीना डाबी ने सामन्य अध्ययन की कॉपी में ऐसा क्या लिखा कि वो टॉप कर गईं, तो यहां पर Click करें.



IAS Topper टीना डाबी की कॉपी आई सामने, आप भी देखें टीना ने क्यों टॉप किया?

दोस्तों नया साल अपने साथ ढेर सारे EXAMS की न्यूज लेकर आता है. सही मायने में साल शुरु होते ही परीक्षाओं का काउनडाउन शुरु हो जाता है. IAS से लेकर PCS तक, SSC से लेकर Bank Exam के Notification आने शुरु हो जाते हैं. ऐसे में उन प्रतियोगी छात्रों की धड़कने बढ़ने लगती हैं जो सालभर तैयारी करते हैं. क्योंकि असल परीक्षा का वक्त अब शुरु होता है. ऐसे में अगर आपको सही मार्गदर्शन मिले तो आपको सफल होने से कोई रोक नहीं सकता है.

www.bookmynotes.com टीम को इस बात का फक्र है कि पिछले एक साल से हम लगातार परीक्षाओं की तैयारी में प्रतियोगी छात्रों की मदद कर रहे हैं और कई छात्र हमारे नोट्स पढ़कर सफल हुए हैं. ये आपका प्यार ही है कि कम वक्त में हमारी वेबसाइट पर आने वाले प्रतियोगी छात्रों की संख्या करोड़ों तक में पहुंच गई है. हर रोज हमारी वेबसाइट से हजारों छात्र उपयोगी Notes डाउनलोड कर रहे हैं.

इस तरीके से तैयार करें Geography के Question, जरुर मिलेगी सफलता

How to Make Geography Notes in Hindi.

दोस्तों प्रतियोगी परीक्षाओं में अक्सर भारत और विश्व के खास क्षेत्रों से जुड़े तुलनात्मक सवाल पूछे जाते हैं. इन सवालों को तैयार करने का तरीका ये है कि आप उसे तुलनात्मक रूप में ही पढ़ें. हम आपकी मदद के लिए यहां पर नीचे कुछ अहम स्थलों का तुलनात्मक ब्यौरा दे रहे हैं. आप उसे अच्छे से तैयार कर लें.


इसे तैयार करने के दो फायदें होंगे एक तो इन प्रश्नों को लेकर आपको कोई कन्यूफजन नहीं होगा दूसरे आप से अगर सीधे भारत और विश्व से जुड़े प्रश्न पूछे गए तो आप उसके भी उत्तर आसानी से दे लेंगे.

जैसे की अगर परीक्षा में सवाल आया कि भारत का सबसे ठंडा प्रदेश कौन हैं तो आप फौरन बता देंगे कि सियाचीन, जबकि अगर सवाल आया कि दुनिया का सबसे ठंडा स्थान कौन हैं तो आपको बोस्टक बताने में कोई दिक्कत नहीं होगी. जबकि अगर सवाल आता है कि दुनिया सबसे ठंडा स्थान जहां इंसान रहते हैं तो आप रूस का बारर्वोयान्स्क बता देंगे. तो है ना आसान नीचे के तथ्यों को अब अच्छे से तैयार कर लें.

 भारत और विश्व के क्षेत्रों का तुलनात्मक अध्ययन

        क्षेत्र
    विश्व
      भारत
1
सबसे ठंडा स्थान
बोस्टक (अंटार्कटिक) और इंसानों के रहने के लायक स्थान बरर्वोयान्स्क (रूस)
सियाचीन
2
सबसे गर्म स्थान
USA की डेथवैली
जैसलमेर
3
सबसे बड़ी खाड़ी
मैक्सिको की खाड़ी
बंगाल की खाड़ी
4
सबसे बड़ा द्वीप समूह
इण्डोनेशिया
अण्डमान निकोबार
5
सबसे बड़ा द्वीप
ग्रीनलैण्ड (उत्तरी अमेरिका)
मध्य अण्डमान
6
वनों का सर्वाधिक क्षेत्रफल
रूस
मध्य प्रदेश
7
सर्वाधिक जनसंख्या
चीन
उत्तर प्रदेश (U.P)
8
सर्वाधिक क्षेत्रफल
रूस
राजस्थान
9
सबसे बड़ा नगर समूह
टोक्यो और कोहामा
दिल्ली-NCR
10
सबसे बड़ा प्रजाति समूह
मंगोलायड
मंगोलायड
11
सबसे लंबी नदी
नील नदी
गंगा नदी
12
सबसे ऊंची पर्वत चोटी
माउंट एवरेस्ट
माउंट K-2
13
सबसे बड़ी झील
कैस्पीयन सागर
वूलर झील (J&K)
14
सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान
मासिनराम (मेघालय)
मासिनराम (मेघालय)
15
न्यूनतम वर्षा वाला स्थान
अटाकामा मरुस्थल (चीली)
लेह (जम्मू-कश्मीर)

PCS EXAM में जब आए थे ये सवाल तब आप कर पाए थे, सवालों के लिए CLICK करें

PCS EXAM में पहले भी इन प्रश्नों से आपका पड़ चुका है पाला, तब कर पाए थे आप

Important Question and Answer for UPPCS Exam-2017

दोस्तों नये साल का जश्न आप मना चुके होंगे. जश्न की खुमारी भी अब ऊतर चुकी  होगी. अब एक बार फिर से कमर कस लीजिए. क्योंकि साल की शुरुआत होने के साथ-साथ उस पल का भी काउनडाउन शुरु हो गया जिसका हम सभी प्रतियोगी छात्रों को सालभर से इंतजार रहता है. सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी कर रहे सीरियस छात्रों के लिए अब एक-एक पल कीमती है. क्योंकि IAS से लेकर PCS तक की वेकेंसी अब आनेवाली है.  

अब आपको तैयारी के साथ-साथ रोज बहुविकल्पी प्रश्नों को हल करने की प्रैक्टिस शुरु कर देनी चाहिए. आपकी मदद करने के लिए हम यहां नीचे साल 2013 UPPCS के प्रश्नों का हल दे रहे हैं. आप सिर्फ पांच मिनट का वक्त निकालकर इन प्रश्नों को ना सिर्फ हल कीजिए बल्कि उत्तर को भी दिमाग में फिट कर लीजिए. क्योंकि इन सवालों से एक बार फिर आपका सामान प्रतियोगी परीक्षाओं में हो सकता है.
 


1.    
निम्नलिखित प्रांतों में से किस प्रांत के सत्याग्रहियों की संख्या महात्मा गांधी के दांडी कूच में सर्वाधिक थी?
(a)    
बिहार    (b)    गुजरात
(c)    
महाराष्ट्र    (d)    बंगाल

उत्तर-(b)

2.
बापू : माई मदरशीर्षक संस्मरण किसने लिखा था?
(a)    
बी.आर. नंदा
(b)    
राजकुमारी अमृत कौर
(c)    
महादेव देसाई
(d)    
मनुबहन
उत्तर-(d)

3.
हिंद स्वराजमहात्मा गांधी द्वारा लिखा गया था
(a)    
हिन्दी में    (b)    गुजराती में
(c)    
अंग्रेजी में    (d)    उर्दू में
उत्तर-(b)

4.
निम्नलिखित पत्रकारों में से कौन महात्मा गांधी का जीवनीकार है?
(a)    
लुई फिशर
(b)    
रिचर्ड ग्रेग
(c)    
वेब मिलर
(d)    
उपर्युक्त में से कोई नहीं
उत्तर-(a)


5.
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के निम्नलिखित अधिवेशनों में से किस एक की अध्यक्षता जवाहरलाल नेहरू ने सर्वप्रथम की थी?
(a)    
लाहौर अधिवेशन, 1929
(b)    
कलकत्ता अधिवेशन, 1928
(c)    
लखनऊ अधिवेशन, 1936
(d)    
रामगढ़ अधिवेशन, 1940
उत्तर-(a)

6.
निम्नलिखित युग्मों में से कौन सही सुमेलित नहीं है?
(a)    
क्लीवलैंड :  लोहा एवं इस्पात
(b)    
डिट्रायट   :  मोटरगाड़ी
(c)    
मेसाबी रेंज : कोयला क्षेत्र
(d)    
फिलाडेल्फिया  : पोत निर्माण
उत्तर-(c)

7.
निम्नलिखित में से किसे स्वर्ण द्वार का नगर कहा जाता है?
(a)    
पेरिस    (b)    एमस्टर्डम
(c)    
मुंबई    (d)    सैनफ्रांसिस्को
उत्तर-(d)

8.
निम्नलिखित में से किसे विश्व का चीनी का कटोराकहा जाता है?
(a)    
हवाई द्वीप समूह        (b) क्यूबा
(c)    
भारत        (d) फिलिपीन्स
उत्तर-(b)

9.
निम्नलिखित में से कौन एक भू-आबद्ध देश नहीं है?
(a)    
उज्बेकिस्तान        (b) किर्गिस्तान
(c)    
ताजिकिस्तान        (d) अज़रबैजान
उत्तर-(d)

10.
निम्नलिखित में से किस एक महाद्वीप में उसके संपूर्ण क्षेत्रफल में मैदानी भाग का प्रतिशत सर्वाधिक है?
(a)    
एशिया        (b) यूरोप
(c)    
उत्तरी अमेरिका    (d) दक्षिणी अमेरिका
उत्तर-(d)

11.
निम्नलिखित युग्मों पर विचार करें:
(
स्थानीय वायु    (संबंधित देश)

1.    
सिरोको     :        फ्रांस
2.    
बोरा        :        इटली
3.    
ब्लिजर्ड    :        कनाडा

उपर्युक्त में से कौन सा एक युग्म सही सुमेलित नहीं  है?
(a)    
केवल 1    (b)    केवल 2
(c)    2
और 3    (d)    केवल 3
उत्तर-(a)

12.
निम्नलिखित देशों में से प्रति एकड़ कपास उत्पादन उच्चतम हैः
(a)    
यू.एस.ए. में        (b) चीन में
(c)    
पाकिस्तान में    (d) भारत में
उत्तर-(b)

13.
निम्नलिखित देशों में से कौन एकमात्र चुकंदर से चीनी तैयार करता है?
(a)    
फ्रांस    (b)    यूक्रेन
(c)    
जर्मनी    (d)    इटली
उत्तर-(b)

14.
संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संघ की रिपोर्ट (2010) के अनुसार विश्व का सर्वाधिक भ्रमणवाला देश है?
(a)    
यू.एस.ए.    (b)    स्पेन
(c)    
फ्रांस    (d)    इटली
उत्तर-(c)
15.
निम्नलिखित देशों में से कौन मक्का उत्पादन में विश्व में द्वितीय स्थान पर है?
(a)    
ब्राजील    (b)    मेक्सिको
(c)    
अर्जेंटीना    (d)    चीन
उत्तर-(d)

16.
सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए तथा नीचे दिए गए कूट से सही उत्तर चुनिएः
सूची-I (कोयला क्षेत्र)  सूची-II (अवस्थिति)
A.    
कुजबास            1.यूनाइटेड किंगडम
B.    
रेड बेसिन            2. रूस
C.    
ब्रिस्टल            3. ऑस्ट्रेलिया
D.    
न्यू साउथ वेल्स        4. चीन
कूट :
A    B    C    D
(a)    1    3    2    4
(b)    2    4    1    3
(c)    3    2    4    1
(d)    4    3    1    2
उत्तर-(b)

17.
निम्न भारतीय राज्यों में से कौन रेशमी वस्त्र का सबसे बड़ा उत्पादक है?
(a)    
कर्नाटक    (b)    तमिलनाडु
(c)    
आंध्र प्रदेश    (d)    पश्चिम बंगाल
उत्तर-(a)

18.
भारत का राष्ट्रीय सामुद्रिक पार्क स्थित है-
(a)    
कच्छ में
(b)    
सुंदरबन में
(c)    
चिल्का झील में
(d)    
निकोबार द्वीप समूह में
उत्तर-(a)

19.
निम्नलिखित में से कौन सा युग्म गलत है?
(a)    
रूर औद्योगिक प्रदेश : जर्मनी
(b)    
फ्लैंडर्स औद्योगिक प्रदेश : बेल्जियम तथा फ्रांस
(c)    
स्कॉटलैंड औद्योगिक क्षेत्र : स्वीडन
(d)    
न्यू इंग्लैंड औद्योगिक क्षेत्र : यू.एस.ए.
उत्तर-(c)

20.
निम्न में से कौन एक मंदाकिनी नदी के किनारे अवस्थित नहीं है?
(a)    
गौरीकुंड    (b)    रामबाड़ा
(c)    
गोविन्द घाट    (d)    गुप्तकाशी
उत्तर-(c)